बुधवार, 7 जनवरी 2009

पासवर्ड.......

10
कितनी उलझन होती थी पहले
पासवर्ड बनाने में
क्या रखें ?
नाम ?
फ़ोन नम्बर ?
पिन कोड ?......
शुक्रिया
तुम्हारे आने के बाद
ख़तम हो गयी ये
उलझन न भूलने का डर
न याद रखने की मशक्कत ॥
आखिर तुम्हारा नाम भी याद रखने में कोई मशक्कत है ?
...पर सच बताना
तुम्हारा पासवर्ड मैं ही हूँ या कोई और ...........

माई

2
सारा सुख माई तोरे अचरवा में ;
पूरी दुनीया समाय जाए करेजवा में.

छुट गईल माई तोरे हथवा के साग भात ,
दूध पियें चंदा मामा खायी हम दूध भात,
याद आवे मारल रहली अंगनवा में.............

तीज त्यौहार कौने व्रत नाही छोड़े माई
हमरे ही खातिर ता पीपर भी पूजे माई
बाबा जल पावें सवनवा में....