रविवार, 24 अक्तूबर 2010

तुम्हारा होना न होना.....

5

तुम्हारा होना उतना नहीं होता
जितना तुम्हारा होना ,
जब
घर में होती हो तब एक बारगी ; एक जगह होती हो...
किचेन में गोल-गोल रोटियाँ सेंकते,
कलाई
में गोल-गोल चूड़ियाँ खनकाते,
मुन्ने
की ठुड्ढी पकड़ बाल संवारते
और
कभी-कभी गृह-मंत्रालय का बजट समझाते
ऐसे
ही कई फ्रेमों में बंटी-छंटी-थकी और ....पस्त !
पर आज जब नहीं हो
तो एक साथ सब जगह हो घर में
सर्वव्यापी

दरवाजे
की उस पहली दरार
जो
खुलने से पहले दिखाती है तुम्हारी झलक
...से लेकर
झाड़ू की मूठ पर पड़े तुम्हारी उँगलियों के निशान तक
कहाँ
नहीं हो ?
बिस्तर
पर फिंके गीले तौलिये पर चिपका है तुम्हारा ताना-
"कोई और होती तब पता चलता ..."
फर्श
के पोंछे का वह कपडे का टुकड़ा , जो भीगा है तुम्हारे आदेश से-
"चप्पलें बाहर..."
आईने
पर वो पुरानी बिंदियाँ जो चिपकीं हैं तुम्हारे सौन्दर्याभिमान के गोंद से-
"अभी भी ऐसी दिखती हूँ कि..."
तकिया
फूली है तुम्हारे जिद के फाहे से
जो
बन जाती थी हमारे बीच का बाघा बार्डर
शर्ट
की कालर से उलझा है तुम्हारा इक बाल
जो वक्तेरुखसत की आखिरी निशानी है
सच
कहूं मेरी परिणीता !
तुम्हारा
होना उतना नहीं होता
जितना
तुम्हारा होना ...

5 Response to तुम्हारा होना न होना.....

21 दिसंबर 2010 को 8:04 pm

पूरी की पूरी रचना बेहद सशक्त और प्रभावशाली ! अफ़सोस कि ब्लॉग पाठक पोस्ट के स्तर से ज्यादा जान पहचान को ज्यादा महत्व देते हैं,

अति सुंदर !

archana tripathi
12 अक्तूबर 2011 को 9:08 am

"Dil Mein Basi Hai Ulfat Jis Pyar Ki
Us Ke Bina Jiya Nahi Ja Sakta…" yahi pankati yaad aati hai is rachana ko padh kar bahut umda likha hai aapne.....

बेनामी
10 फ़रवरी 2013 को 6:00 pm

howdy sushilkld.blogspot.com admin discovered your site via yahoo but it was hard to find and I see you could have more visitors because there are not so many comments yet. I have found site which offer to dramatically increase traffic to your site http://mass-backlinks.com they claim they managed to get close to 4000 visitors/day using their services you could also get lot more targeted traffic from search engines as you have now. I used their services and got significantly more visitors to my blog. Hope this helps :) They offer best services to increase website traffic at this website http://mass-backlinks.com

बेनामी
10 जून 2017 को 11:20 am

i m robot.no feelings

बेनामी
10 जून 2017 को 11:22 am

i m still a robot .started feeling ..................emotional .he he .